रोते -रोते

वो चार लोग क्या कहेंगे? क्या-क्या हम सुनेंगे?

वो चार लोग क्या कहेंगे? क्या-क्या हम सुनेंगे?

दहेज कोई देता है तभी कोई लेता है 

 यही सुन-सुनकर यही...

पढ़ोगे तो रो पड़ोगे

पढ़ोगे तो रो पड़ोगे

एकमात्र यही तरीका अब समझ में आता है कि कैसे बेरोजगारी से जुझते लोगों से बचने...

प्रजा की राजा और राजा के बाद प्रजा

प्रजा की राजा और राजा के बाद प्रजा

सरकार को भी कि चाहिए कि वह मीडिया से इस बात का अपेक्षा रखें कि उनके द्वारा लिए...

रोशन तुम्ही से दुनिया..... तुम साला मत रहो

रोशन तुम्ही से दुनिया..... तुम साला मत रहो

दिन गुजरते गये ,इसमें गंदी राजनीति घुसती गई कि पांच साल आएगा  तब इस गरीब की भौजाई...

bg
किसान अपनी बदहाली के लिए स्वयं जिम्मेदार है।

किसान अपनी बदहाली के लिए स्वयं जिम्मेदार है।

चावल गेहूं और गन्ने की फसल जैसी कैश क्रॉप को अगर हम नजरअंदाज कर दें तो सब्जियों...