नशे के लिए 2-2 हजार रुपए में बेचते थे खून, ब्लड बैंक की टीम ने पकड़े तीन दलाल

  ब्लड बैंक में आने वालों पर नजर रखी जा रही है। इसी सिलसिले में शुक्रवार शाम जेएएच स्थित ब्लड बैंक में तीन लड़के 2-2 हजार रुपए में खून बेचने आए थे। मध्य प्रदेश स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के अध्यक्ष योगेन्द्र परमार को उन पर संदेह हो गया। उन्होंने तीनों युवकों को पकड़कर पूछताछ की, तो मामले का खुलासा हुआ है। तीनों लड़कों की पहचान मुरार के बंशीपुरा निवासी रवि श्रीवास, नीरज किरार, दिलीप किरार के रूप में हुई है। मरीजों के रिश्तेदार बनकर देते थे ब्लड पकड़े गए युवकों ने कुबूल किया है कि वह जेएएच में बाहर से आने वाले मरीजों के परिजन से डील कर उनके रिश्तेदार बनकर ब्लड देते हैं। खून देने के बदले 2 हजार रुपए लेते थे। इन रुपए से वह नशा करते थे। पकड़े गए तीनों युवकों को योगेन्द्र परमार ने कंपू पुलिस के सुपुर्द कर दिया है। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today जेएएच के ब्लड बैंक में पकड़े गए तीन युवक, 2-2 हजार रुपए में खून बेचने आए थे

नशे के लिए 2-2 हजार रुपए में बेचते थे खून, ब्लड बैंक की टीम ने पकड़े तीन दलाल

t4unews:- दो-दो हजार रुपए में ब्लड बेचने आए तीन दलालों को ब्लड बैंक के स्टाफ ने रंगेहाथ पकड़ा है। इन युवकों का टारगेट बाहर से आने वाले मरीजों के परिजन होते थे। डील के बाद ये मरीज का रिश्तेदार बनकर जेएएच की ब्लड बैंक पहुंचकर खून निकलवा देते थे। तीनों दलालों को पकड़कर कंपू पुलिस को सौंप दिया गया है। ये लोग नशे के आदी हैं। यही लत पूरी करने खून की दलाली करते हैं। हाल में जिले में नकली प्लाज्मा रैकेट का पर्दाफाश होने के बाद खून के दलालों पर नकेल कसने जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग व पुलिस ने अपने-अपने स्तर पर प्रयास किए हैं। ब्लड बैंक में आने वालों पर नजर रखी जा रही है।

इसी सिलसिले में शुक्रवार शाम जेएएच स्थित ब्लड बैंक में तीन लड़के 2-2 हजार रुपए में खून बेचने आए थे। मध्य प्रदेश स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के अध्यक्ष योगेन्द्र परमार को उन पर संदेह हो गया। उन्होंने तीनों युवकों को पकड़कर पूछताछ की, तो मामले का खुलासा हुआ है। तीनों लड़कों की पहचान मुरार के बंशीपुरा निवासी रवि श्रीवास, नीरज किरार, दिलीप किरार के रूप में हुई है। मरीजों के रिश्तेदार बनकर देते थे ब्लड पकड़े गए युवकों ने कुबूल किया है कि वह जेएएच में बाहर से आने वाले मरीजों के परिजन से डील कर उनके रिश्तेदार बनकर ब्लड देते हैं। खून देने के बदले 2 हजार रुपए लेते थे। इन रुपए से वह नशा करते थे। पकड़े गए तीनों युवकों को योगेन्द्र परमार ने कंपू पुलिस के सुपुर्द कर दिया है।  

 source- Dainik bhaskar



Download smart app