चाहूंगा मैं तुझे लेकिन प्यार न करूँगा नवजोत सिद्धू व मुख्यमंत्री अमरेंद्र सिंह 

देर रात तक सिद्धू और कैप्टन के बीच न कोई मुलाकात हुई और न बधाई-मिठाई का कोई मौका आया। इससे पता चलता है की दही और दूध का  मिलन है। 

चाहूंगा मैं तुझे लेकिन प्यार न करूँगा नवजोत सिद्धू व मुख्यमंत्री अमरेंद्र सिंह 
Siddhu amrinder

t4unews:लुधियाना-राजनितिक क्रम में नवजोत सिद्धू व मुख्यमंत्री अमरेंद्र सिंह सोमवार को काफी पास होकर भी बेहद दूर रहे। दरअसल, सिद्धू दोपहर को मंत्री तृप्त रजिंदर सिंह बाजवा के घर पहुंचे। इसके बाद उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री रजिंदर कौर भट्ठल से भी मुलाकात की। 

खास बात यह रही कि भट्ठल के साथ जब सिद्धू मुलाकात कर रहे थे तो मुख्यमंत्री अपने सरकारी आवास पर थे। चर्चा थी कि सिद्धू मुख्यमंत्री अमरेंद्र सिंह से मुलाकात कर सकते हैं, लेकिन भट्ठल से मुलाकात के बाद सिद्धू के काफिले ने दिशा बदल ली। देर रात तक सिद्धू और कैप्टन के बीच न कोई मुलाकात हुई और न बधाई-मिठाई का कोई मौका आया। इससे पता चलता है की दही और दूध का  मिलन है। 

बता दें कि कैबिनेट मंत्री सुखजिन्दर रंधावा, सुखविन्दर सिंह सरकारिया, चरनजीत चन्नी और तृप्त रजिन्दर बाजवा तो पहले ही कैप्टन विरोधी ख़ैमे में शामिल हो चुके थे लेकिन प्रधानगी मिलने से एक दिन पहले सिद्धू उनके अलावा मंत्री बलबीर सिद्धू, गुरप्रीत कांगड़ और सोमवार को रजिया सुल्ताना के घर भी जा कर आए। इनमें से बलबीर सिद्धू और कांगड़ को छोड़ कर अन्य सभी मंत्री तृप्त बाजवा के घर खुल कर नवजोत सिद्धू के साथ मौजूद थे, जिसके साथ मंत्री 2 गुटों में बांटे नज़र आ रहे हैं क्योंकि ब्रह्म महिंद्रा, राणा सोढी, भारत भूषण आशु, अरुणा चौधरी, साधु सिंह धर्मसोत, ओ. पी. सोनी, विजय इंद्र सिंगला ने सोशल मीडिया के ज़रिये सिद्धू को बधाई तक देना ज़रूरी नहीं समझा।क्या ऐसे में जीत सकेंगे पंजाब जहा एक और केजरीवाल तो दूसरी और बीजेपी नजर लगाए बैठी है।  

Credit panjab keshari



Download smart Think4unity app