भाड में जाये दुनियॉ ,प्रेम बजाये हारमुनिया

इनकी हारमुनिया भी को बजाने वाला कोई मन पसंद इन्हे मिल जाये जो इनके जीवन की ताकधिना धिन शुरू हो जाये और घर के नोन तेल लकडी यानी की मानव जीवन की परम आश्रम गुहस्थ आश्रम का अनुभव और कोर्स पूरा हो सके।अपने स्वप्नो की मल्लिका की खोज प्रेम बाबू इडिंया से यूक्रेन तक करते आये है और यदि कोई काबिल इनके धुन में हारमुनिया बजाने की इच्छुक हो तो मोबाइल नंबर व्हाटस नंबर 7004535467 डायल करे और इनके साथ सरगम आरंभ कर सकती है

भाड में जाये दुनियॉ  ,प्रेम बजाये हारमुनिया
प्रेम कुमार यादव
t4unews:श्री प्रेम सिंह यादव आरा जिला बिहार के निवासी है। एक उन्नत  और बौद्धिक संपदा के धनी अपने जीवन के द्वितीय पारी यानी विवाह के लिये अभी वेटिंग सूची में है । यानी उनकी पसंद और सपनों की राजकुमारी अभी उनके देहरी से दूर इनका इंतजार कर रही हैं।इनकी आंरभिक शिक्षा दीक्षा  बिहार पटना में हुई  फिर इन्होनें अपनी बाद की मास्टर ग्रेज्यूएशन  रेडियो टेक्नालाजी और मेटालिक इंडस्ट्रीज शिक्षा युक्रेन सोवियत रूस गणराज्य में करने के साथ साथ स्वंय की कंपनी अंगारा टाईटेनियम इंडिया की स्थापना की है जिनके वे स्वंय कार्यवाही अधिकारी प्रमुख है लाख रूपयें की आय की मासिक प्राप्ति बताते है और अब नई दिल्ली में अपने आफिस के साथ-साथ बिहार आरा और यूक्रेन में कार्य करते हुये यादव समाज का नाम रोशन कर रहे है।इन कार्यो के अलावा आपने यदुनंदन फाउंडेशन एन जी ओ की स्थापना भी की है।जिससे वे लोगे में मोटीवेशनल विचार और छोटे बच्चों को  मदद करने का समाज उपयोगी चैरिटी का काम भी गोपनीय रूप से करते है।

उल्लेखनीय बात यह है कि हममें से बहुत कम लोग जानते है कि श्री प्रेम सिंह यादव जी युरोप में रहते हुये  पहले एसे भारतीय होने का गौरव प्राप्त किया है कि जो इंडियन फेडरेशन आफ यादव चेंबर आफ कामर्स  के कोर मेंबर सदस्य है तथा जरूरत मंदो को  हमेशा समाज में गोपनीय रूप से चैरिटी आदि करते रहते है। इनके द्वारा बेल्ज्यिम में स्टेला कंपनी के बीयर पेय पदार्थ के लिये कपंनी ने भारत के लिये इन्हे ब्रांड एंबेसडर भी बनाया है। इनके डालर प्रेम का फोटो उसी कंपनी के उद्घाटन या प्रिमीयर के समय का बना है जिसमें इन्होने यादव बनाम भारतवंशी की भूमिका लाल पगडी पहन कर निभाई है।



https://youtu.be/3bWusqiut7o

 

हिन्दी ,इंगलिश भोजपुरी ,रशिया और यूक्रेन की फर्राटे दार जुबान बोलने वाले इस शख्स को अपने यादव होने का अभिमान है और आरा बिहार में फिल्मी दुनिया से संबंधित गाने डबिंग ,एकिटंग का कोर्स करवाते है एसी जानकारी दी है।इनके अनेक गुणों के धनी होने के कारण इनसे बात करते समय ही काफी मानोविनोद होता रहता है और समय तो जैसे पंख लगाकर उड जाते हो एसा अहसास होता है। शादी मेंहोने वाले अप्रत्याशित विलंब का कारण इन्हे भी ठीक ठीक पता नहीं लग पाता है क्योकि बेहतर की खोज में विराम करते मुसाफिर को अब सलाह यही है कि बडी देर भई नंद लाला........
 

 माता पिता सज्जन  और भरे पूरे परिवार  से है।पिता स्वर्गीय  श्री सुदर्शन सिंह बिहार राज्य के बाढ और सिंचाई विभाग में सिविल इंजिनियर थे।भाई पटना में स्कूल टीचर तथा बहने  दानापुर और पटना में  ब्याही है।
 दिल के रसिक और सदैव दूसरो के हित चिंतन में रहते हुये ये स्वंय के बारे में भूल जाते है। इनके तकिया कलाम डायलाग भाड में जाये दुनियॉ  ,प्रेम बजाये हारमुनिया को सुन कर मन प्रसन्न और आलहादित हो जाता है कि इनकी हारमुनिया भी को  बजाने वाला कोई मन पसंद  इन्हे मिल जाये जो इनके जीवन की ताकधिना धिन शुरू हो जाये और घर के नोन तेल लकडी यानी की मानव जीवन की परम आश्रम गुहस्थ आश्रम का अनुभव और कोर्स पूरा हो सके।
 लेखक के विचार इनसे कई दिनो तक मिलते जुलते बात करते मित्रवत बीतने के अनुभव के आधार पर परिकल्पना की गई है।

http://think4unity.com/mangalparichay/



 परिवार आपके उन्नत जीवन और आपके खुबसूरत जोडी बनने की कामना करते हुये सजातीय कन्या पक्ष के लोगों को इस अवसर को पाने के लिये जानकारी देता है कि मेंबर क्रमाॅक   08C8E6B56 में जाकर अपना एक्सप्रेस रिक्वेस्ट भेजे और सारी जानकारी नंबर आप स्वंय पाकर खुद रूबरू श्री आनंद और उनके बुजुर्गो से इस संबध में मेलजोल बढाये।



Download smart app