शासन की सोलर सब्सिडी योजना का सही लाभ किसी को नहीं मिल रहा योजना भ्रामक लगती है।

सरकार के द्वारा सब्सिडी जैसे लुभावने वादे और भ्रम फैलाकर जिस प्रकार की सेवाएं उपभोक्ताओं तक पहुंचाना चाहती है उसमें सोलर लगाने वाले वेंडर्स काफी चिंतित है क्योंकि सब्सिडाइज वाले रेट में उन्हें मात्र केवल बाजार से पैनल भर मिल पाएगा बाकी इनवर्टर ,वायर ,अर्थिंग ,स्ट्रक्चर इत्यादि की कीमत तथा आने वाले 5 सालों तक की सेवाओं की कीमत के नहीं मिलने से योजना विगत 10 वर्षों से जस की तस है। केवल वहीं उपभोक्ता इसका लाभ ले पा रहे हैं जिनकी गांठ में दम है अर्थात जो खुद के नगद पैसे से अपना कार्य कर रहे हैं। बहर हाल इस जानकारी के आधार पर भी कुछ आगे बढ़ कर सोचा और देखा जा सकता है, अगर यह जानकारी शत प्रतिशत सही है तो...

t4unews: Solar Rooftop Yojana : फ्री सोलर पैनल के लिए ऑनलाइन करें आवेदन , 0 रुपए लगेंगे

ऐसी न्यूज़ की हेडलाइंस देखने के बाद मन खुश हो जाता है कि चलो हम भी सोलर लगा ले पर वास्तविकता कुछ और है।
MyTechnicalVoice.com से प्राप्त वर्तमान जानकारी के अनुसार अब प्रत्येक विद्युत उपभोक्ताओं के घर की छतों पर सोलर पैनल मुफ्त में लगाए जाने की जानकारी प्रसारित की जा रही है। आइए देखें इसमें कितनी सत्यता है क्योंकि बढ़ती हुई बिजली के बिल और ऊर्जा संकट से आत्मनिर्भरता की ओर जाने के लिए सभी लोग लालायित हैं परंतु सोलर पैनल के वर्तमान बाजारों रेट को देखते हुए जब इसका कोटेशन या बजट उपभोक्ताओं को हाथ में मिलता है तो सोलर लगवाने के मंसूबे ठंडे पड़ जाते हैं क्योंकि इसकी आरंभिक कीमत ₹44000 प्रति किलोवाट से लेकर ₹80000 प्रति किलो वाट तक की हो सकती है। जो मार्केट के रेट उपलब्धता और नई नई टेक्नालॉजी के आधार पर कीमत पर होती है। सरकार के द्वारा सब्सिडी जैसे लुभावने वादे और भ्रम फैलाकर जिस प्रकार की सेवाएं उपभोक्ताओं तक पहुंचाना चाहती है उसमें सोलर लगाने वाले वेंडर्स काफी चिंतित है क्योंकि सब्सिडाइज वाले रेट में उन्हें मात्र केवल बाजार से पैनल भर मिल पाएगा बाकी इनवर्टर ,वायर ,अर्थिंग ,स्ट्रक्चर इत्यादि की कीमत तथा आने वाले 5 सालों तक की सेवाओं की कीमत के नहीं मिलने से योजना विगत 10 वर्षों से जस की तस है। केवल वहीं उपभोक्ता इसका लाभ ले पा रहे हैं जिनकी गांठ में दम है अर्थात जो खुद के नगद पैसे से अपना कार्य कर रहे हैं। बहर हाल इस जानकारी के आधार पर भी कुछ आगे बढ़ कर सोचा और देखा जा सकता है, अगर यह जानकारी शत प्रतिशत सही है तो...

Solar Rooftop Yojana : सौर ऊर्जा मंत्रालय, भारत सरकार ने सोलर रूफटॉप योजना की घोषणा की है। इस सोलर रूफटॉप योजना (Solar Energy Scheme) के तहत देश का कोई भी निवासी अपनी छत पर मुफ्त में सोलर पैनल लगवा सकता है, साथ ही मुफ्त बिजली भी प्राप्त कर सकता है। सोलर रूफटॉप प्लान आपकी छत पर सोलर पैनल लगाने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करता है।

Solar Rooftop Yojana : फ्री सोलर पैनल के लिए ऑनलाइन करें आवेदन

Solar Rooftop Yojana

इस सोलर रूफटॉप योजना के तहत, मंत्रालय पहले 3 kW सौर ऊर्जा के लिए 40% सब्सिडी और अगले 3 kW और 10 kW के लिए 20% छूट प्रदान करेगा। स्थानीय बिजली वितरण कंपनियां इस सोलर पैनल योजना को राज्यों (डिस्कॉम) में लागू कर रही हैं। सोलर रूफटॉप प्लान के लिए आवेदन कैसे करें और यहां व्यापक सामग्री पढ़कर आपको मिलने वाले लाभों के बारे में जानें।

सरकार सौर ऊर्जा (Solar Energy) का उपयोग कर इमारतों, कारखानों और अन्य संरचनाओं की छतों पर सोलर पैनल लगाने की अनुमति दे रही है। सोलर रूफटॉप योजना (Solar Rooftop Yojana) के तहत कोई भी निवासी अपनी छत पर मुफ्त में सोलर पैनल लगवा सकता है। 1 kW का सोलर पैनल लगाने के लिए आपको 10 वर्ग मीटर क्षेत्रफल की आवश्यकता होगी। सोलर रूफटॉप योजना के तहत सोलर पैनल 25 साल तक की अवधि के लिए उपलब्ध हैं। इसका 5-6 साल में पूरा भुगतान किया जाता है, जिसके बाद इसे अगले 19-20 साल तक मुफ्त में इस्तेमाल किया जा सकता है।

मंत्रालय के ध्यान में यह लाया गया है कि कुछ रूफटॉप सोलर कंपनियां/विक्रेता जो मंत्रालय द्वारा अनुमोदित वेंडर होने का दावा कर रहे हैं, सोलर रूफटॉप योजना (Solar Rooftop Scheme) के तहत संयंत्र स्थापित कर रही हैं। मंत्रालय ने कहा है कि किसी वेंडर को मंजूरी नहीं मिली है। राज्य में केवल DISCOMs ही इस प्रणाली को लागू कर रही हैं। DISCOMs ने सौर ऊर्जा संयंत्रों की स्थापना के लिए प्रतिस्पर्धी बोली प्रक्रिया और निश्चित दरों के माध्यम से विक्रेताओं का चयन किया है।

अब जबलपुर डिस्कॉम की बात ले ले तो यहां 11 वेंडर्स इस कार्य के लिए मनोनीत हुए हैं जो 2 मेगा वाट 3 मेगा वाट और छोटे-छोटे कई रूप में आवंटित कार्य को लेकर अपने इस लक्ष्य को पूरा करने में लगे हैं ।प्राप्त जानकारी के अनुसार अभी तक वह दिए गए लक्ष्य के 20% उपलब्धि को भी नहीं प्राप्त कर सके हैं ।इसके पीछे कारण इन सोलर सिस्टम की कीमत और मिलने वाली सब्सिडी जो उपभोक्ताओं को सोलर लगाने के बाद प्रशासन द्वारा इन वेंडर्स को दिया जाना है ,अभी तक ढुलमुल नीति या अस्पष्ट नीति कह दिया जाए  तो गलत नहीं होगा की तरह आकर्षक नहीं है। जिसके कारण पैनल की क्वालिटी और सर्विस को लेकर उपभोक्ताओं में असमंजस की स्थिति बनी हुई है ।नतीजा सिफर है की जिस तादाद से लोगों की छत बिजली बिल से बचने के लिए लालायित है , वेंडर्स और उपभोक्ता इस लक्ष्य को केवल कीमतों और भ्रामक सब्सिडी इत्यादि मिलने की बात को लेकर केवल अपना कीमती समय नष्ट कर रहे हैं।

जानिए (IPC) इंडियन पेनल कोड के तहत संपूर्ण ज्ञान हिंदी में

सोलर रूफटॉप प्लान की विशेषताएं और लाभ : Solar Rooftop Yojana Benefits

सौर ऊर्जा (Solar Energy Yojana) के लिए एक किलोवाट का उत्पादन करने के लिए 10 वर्ग मीटर जगह की आवश्यकता होती है। बिजली की लागत पर 30 से 50% बचाने के लिए अपने व्यवसाय या कारखाने की छत पर सौर पैनल स्थापित करें। संघीय सरकार 3 kW तक के सौर संयंत्रों के लिए 40% सब्सिडी और 3 kW और 10 kW के बीच सौर संयंत्रों के लिए 20% सब्सिडी प्रदान करेगी।

बिजली बिल राहत

पर्यावरण के अनुकूल बिजली उत्पादन

मुफ्त बिजली – लगभग 25 वर्षों तक सौर पैनलों के उपयोग के लाभ

5 या 6 वर्षों में भुगतान की जाने वाली योजना लागत की वसूली

सोलर रूफटॉप योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें

उम्मीदवार सोलर रूफटॉप योजना के लिए आधिकारिक वेबसाइट Solarrooftop.gov.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं और सौर ऊर्जा के लिए अपनी छत पर मुफ्त सौर पैनल स्थापना के लिए अनुरोध कर सकते हैं। नीचे दिए गए चरणों का पालन करके और जानें-

ऐसे करें आवेदन

  • सोलर रूफटॉप योजना में आवेदन करने के लिए आपको Solarrooftop.gov.in पर विजिट करना होगा।
  • अब आपको होम पेज पर Apply for solar rooftop के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • नए पेज पर आपको अपने राज्य के लिंक पर क्लिक करना है। 
  • इसे करने के बाद आपकी स्क्रीन पर सोलर रूफ के  लिए आवेदन फॉर्म खुल जाएगा।
  • आपको अपनी सभी जरूरी डिटेल्स वहां पर दर्ज करके सब्मिट के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रक्रिया को करने के बाद आपका आवेदन स्वीकार कर लिया जाएगा।

सोलर रूफटॉप पैनल्स की स्थापना

एक बार जब आप सोलर रूफटॉप योजना फॉर्म जमा कर देते हैं, तो आपके क्षेत्र में सोलर पैनल लगाने के लिए जिम्मेदार टीम आपसे संपर्क करेगी। आपको उनके साथ स्थापना समय और अन्य संबंधित जानकारी पर चर्चा करने की आवश्यकता होगी। एक बार सब कुछ फाइनल हो जाने के बाद, इंजीनियर आपके वांछित समय पर आपकी साइट (घर / कार्यालय) पर आएंगे और इंस्टॉलेशन हो जाएगा। और तब आप आसानी से सौर ऊर्जा का उपयोग कर पाएंगे!

केंद्र सरकार कृषि श्रमिकों को सुरक्षित और स्वच्छ बिजली प्रदान करती है

सभी इच्छुक पात्र आवेदक इस सोलर रूफटॉप योजना का लाभ (Solar Rooftop Scheme Benefits) उठा सकते हैं! केंद्र सरकार ने अपना ध्यान अक्षय ऊर्जा स्रोतों के माध्यम से बिजली के उत्पादन और वितरण की ओर स्थानांतरित कर दिया है। नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय या एमएनआरई ने फैसला किया है कि जो किसान सौर पैनल संचालित सिंचाई पंपों का उपयोग कर रहे हैं उन्हें 30% तक की सब्सिडी मिलेगी। Solar Energy योजना का उद्देश्य सौर ऊर्जा को बढ़ावा देना है।

Credit MyTechnicalVoice.com



Download smart Think4unity app