पेट और संबंध बड़ा की सैंया......

पिता उसे अपने प्रेमी  से मोबाइल फोन पर बात नहीं करने देते थे और उसके साथ घूमने नहीं जाने देते थे। इन सब कारणों के चलते गोद ली हुई पुत्री ने पिता की हत्या कर दी और लाश को कंबल में लपेट कर घर के पीछे बनी झोपड़ी में छुपा दिया।

पेट और संबंध बड़ा की सैंया......
हॉबी किलिंग प्रकरण बैतूल

t4unews:- यहां पर सैंया की बड़े होने का प्रमाण मिल गया । जब लोगों का पेट भर जाता है तब वह अपने किसी रिश्ते नाते एहसान को याद नहीं रखते हैं और जो उन्हें उचित लगता है चाहे भले वह अनुचित हो उस को अंजाम दे देते हैं।मध्य प्रदेश के बैतूल में एक ऐसी घटना हुई है जिससे पूरे जिले में सनसनी मच गई है। यहां रहने वाली एक नाबालिक बेटी अपने पिता के लिए काल बन गई। उसने अपने प्रेमी और उसके दोस्तों के साथ मिलकर अपने ही पिता की हत्या कर दी। मृतक श्रीराम हुरमाड़े ने नाबालिक को गोद लिया था। 

प्रेमी से बात करने से रोका तो कर दी आग बबूला होकर कर दिया हत्या । इस घृणित प्रकरण की  मामले की गहन जांच के बाद पुलिस ने बताया कि नाबालिक पिता पर नाराज रहती थी। उसके पिता उसे अपने प्रेमी  से मोबाइल फोन पर बात नहीं करने देते थे और उसके साथ घूमने नहीं जाने देते थे। इन सब कारणों के चलते गोद ली हुई पुत्री ने पिता की हत्या कर दी और लाश को कंबल में लपेट कर घर के पीछे बनी झोपड़ी में छुपा दिया। यह सनसनीखेज मामला बैतूल के सारणी इलाके का है।पुलिस ने नाबालिक को हिरासत में लिया जबकि तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों की पहचान 21 साल के अनवर खान, 18 साल के शिखर और  20 साल के अनिल सोनारिया के रूप में हुई है।

लड़की के मामा ने पुलिस को सूचना दिया, तब जाकर के इस घटना से पर्दा उठा।
सारणी पुलिस ने इस कत्ल का खुलासा करते हुए शनिवार को बताया कि मृतक की गोद ली हुई बेटी ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर इस दहला देने वाली घटना को अंजाम दिया है। बेटी ने हत्या करने के बाद दो दिन तक शव को कंबल में छुपाकर रखा था। पुलिस का कहना है कि 14 जनवरी को बबलू नागले ने पुलिस को सूचना दी कि उसके जीजा श्रीराम हुरमाड़े और उनकी गोद ली हुई नाबालिक बेटी सुभाष नगर में रहते हैं। उसकी श्रीराम से फोन पर बात लगातार बात होती रहती थी पर 12 जनवरी से बातचीत नहीं हो पा रही है। वहीं, 14 जनवरी को ही सुभाष नगर में रहने वाले पड़ोसियों ने बताया कि श्रीराम हुरमाड़े के घर के पीछे बाड़ी में बनी टपरिया से बदबू आ रही है और उसकी लड़की देखने के लिए जाने नहीं दे रही है। 

दोस्तों के साथ प्लानिंग कर दिए गए इस घटना को अंजाम दे कर लाश को घर में छुपा कर रखा गया था।
बबलू श्रीराम के घर गया और उसने दरवाजा खुलवाकर झोपड़ी में देखा तो श्रीराम की लाश कंबल में लिपटी मिली। लाश देखते ही वो सन्न रह गया। उसने देखा कि शव के सिर पर चोट लगी थी और गला भी कटा हुआ था। इसके बाद पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी। जब मामले की हर पहलू से जांच हुई तब पता चला कि मृतक अपनी बेटी को प्रेमी और उसके दोस्तों के साथ घूमने मोबाइल फोन पर बात करने से मना करता था। इससे नाबालिक लड़की ने प्रेमी और दोस्तों के साथ प्लान करके अपने पिता को मौत की नींद सुला दिया। पुलिस ने बताया कि मृतक के शव को घर के पीछे बनी झोपड़ी में छुपा दिया गया था और बदबू ना आए इसलिए परफ्यूम छिड़का गया। हत्या के इस प्रकरण में गोद ली हुई बेटी ही मास्टरमाइंड निकली। 
जीवन को आसान बनाने के लिए डाउनलोड करें थिंक फॉर यूनिटी ऐप

साभार अमर उजाला



Download smart Think4unity app