मुरादाबाद: चेयरमैन पत्नी को तीन तलाक देकर पूर्व चेयरमैन पति हुआ फरार, केस दर्ज

मुरादाबाद (Moradabad) में एक महिला चेयरमैन (Chairman) को उसका पति तीन तलाक (Triple Talaq) देकर फरार हो गया. पति ने सिर्फ इसलिए महिला को तलाक दे दिया कि वो पति के कहने पर भ्रष्टाचार वाले काम नहीं करती थी. महिला (Women) ने अपने पति और चार अन्य लोगों के खिलाफ मारपीट का केस (Case) दर्ज कराया है.

मुरादाबाद: चेयरमैन पत्नी को तीन तलाक देकर पूर्व चेयरमैन पति हुआ फरार, केस दर्ज
रहमत जहां एवं पति शफी अहमद

मुरादाबाद (Moradabad) में एक महिला चेयरमैन (Chairman) को उसका पति तीन तलाक (Triple Talaq) देकर फरार हो गया. पति ने सिर्फ इसलिए महिला को तलाक दे दिया कि वो पति के कहने पर भ्रष्टाचार वाले काम नहीं करती थी. महिला (Women) ने अपने पति और चार अन्य लोगों के खिलाफ मारपीट का केस (Case) दर्ज कराया है.

फरीद शम्सी

t4unews: मुरादाबाद. हमारे विशेष प्रतिनिधि के द्वारा प्राप्त जानकारी की मुस्लिम महिलाओं (Muslim women) की सुरक्षा के लिए सरकार (Government) चाहे कितने भी सख्त कानून (Laws) बना दें, लेकिन मुस्लिम महिलाओं का उत्पीड़न (Harassment) रुकने का नाम नहीं ले रहा है. अब मुरादाबाद (Moradabad) के भोजपुर थाना क्षेत्र में भोजपुर नगर पंचायत की चेयरमैन (Chairman) रहमत जहां को उनके पति (Husband) शफी अहमद ने सिर्फ इसलिए तीन तलाक दे दिया कि रहमत जहां अपने पति के कहने पर भ्रष्टाचार के काम नहीं कर रही थीं.

रहमत जहां का आरोप है कि उसके पति शफी अहमद ने उसे तीन तलाक दिया है. वहीं उसके बहनोई और भाई ने उसके साथ मारपीट की. आज भी इस तरह की हैवानियत समाज में मौजूद है इस मारपीट में रहमत के पैर और कमर में चोट आई है, जिसका इलाज मुरादाबाद के जिला अस्पताल में चल रहा है. वहीं इस मामले में मुरादाबाद के पुलिस अधीक्षक ग्रामीण विद्या सागर मिश्र ने बताया कि महिला की तहरीर पर मामला दर्ज कर लिया गया है और मामले की जांच जारी है.

अपने पिता के साथ मुरादाबाद के जिला अस्पताल पहुंची मुरादाबाद भोजपुर पंचायत की चेयरमैन रहमत जहां का आरोप है कि उनके पति जो भोजपुर पंचायत के पूर्व चेयरमैन हैं, उन्होंने उसे रात के 12:00 बजे घर में घुसकर 3 तलाक दे दिया और उनके साथ आए उनके बहनोई, भाई और दो अन्य लोगों ने उनके साथ मारपीट की. रहमत जहां ने बताया कि शफी अहमद ने उनसे तीसरी शादी की थी, इससे पहले वह अपनी दो बीवियों को छोड़ चुके हैं.

भोजपुर नगर पंचायत की सीट महिला के लिए आरक्षित होने की वजह से शफी अहमद ने चुनाव मैदान में उन्हें उतारा और वह चुनाव जीत भी गईं, अब शफी अहमद उनके हस्ताक्षर से कुछ गलत आवंटन करने लगे, जिसका उन्होंने विरोध किया तो शफी अहमद ने उनके साथ मारपीट की. वह पिछले 9 महीने से अपने पति से अलग रह रही हैं. कल रात पति शफी अहमद अपने अन्य परिजनों के साथ उनके घर आया और फिर उन्हें एक साथ तीन तलाक दे दिया. पुलिस ने रहमत जहां की तहरीर पर आरोपी शफ़ी एहमद उसके भाई और बहनोई के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है. पुलिस अधिकारी जांच के बाद कार्रवाई की बात कह रहे हैं.

पुलिस अधीक्षक ग्रामीण मुरादाबाद विद्या सागर मिश्र ने बताया कि इस संबंध में उनके द्वारा दिए गए प्रार्थना पत्र के आधार पर थाना भोजपुर पर सुसंगत धाराओं में अभियोग पंजीकृत कर लिया गया है. मामले में निष्पक्ष रूप से विवेचनात्मक कार्रवाई की जाएगी. हमारे पास आई तहरीर में कोई पार्टी नहीं लिखा हुआ है, हमारे पास उन्होंने पीड़िता के रूप में एप्लीकेशन दिया है, जिसके आधार पर हमने एफआईआर दर्ज कर ली है. आगे हम विधिक कार्रवाई करेंगे.

आभार न्यूज १८



Download smart Think4unity app