मध्य प्रदेश में किसान ने आत्महत्या की, प्रधानमंत्री के लिए छोड़ा नोट, कही ये बात

मध्य प्रदेश में किसान ने आत्महत्या की, प्रधानमंत्री के लिए छोड़ा नोट

मध्य प्रदेश में किसान ने आत्महत्या की, प्रधानमंत्री के लिए छोड़ा नोट, कही ये बात
Kishan suicide case

t4unews:- मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले की एक गांव में बिजली वितरण कंपनी के उत्पीड़न से परेशान होकर 35 वर्षीय किसान ने आत्महत्या कर ली इस जानकारी के मिलने के बाद हमारे संवाददाता ने बताया कि खुदकुशी करने से पहले किसान श्री महेंद्र राजपूत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर अपना एक सुसाइड नोट छोड़ा है जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी से अनुरोध किया है कि उसके शरीर के हर हिस्से को बेचकर बिजली  कंपनी का बकाया चुका दे।
किसान की परिवार के सदस्यों ने आरोप लगाया है कि बिजली वितरण कंपनी यानी कि पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड के अधिकारियों ने इस करोना महामारी के समय  ₹87000 की बिजली की बकाया राशि को लेकर उनकी आटा चक्की और मोटरसाइकिल की कुड़की कर ली थी।
इस अपमान से निराश होकर किसान ने आत्महत्या कर ली और अपने आत्महत्या के नोट में लिखा कि बड़े-बड़े राजनेता और व्यापारी जो घोटाले करते हैं तब सरकारी कर्मचारी कोई कार्रवाई नहीं करते ।अगर वह लोग बैंक से ऋण लेकर नहीं चुका पाते तो उनका ऋण माफ कर दिया जाता है ,वहीं अगर कोई गरीब ऋण के तौर पर छोटी सी राशि लेता है तो उसे कभी नहीं पूछा जाता कि वह यह कर्ज क्यों नहीं चुका पा रहा है बल्कि उसे सार्वजनिक तौर पर अपमानित कर दिया जाता है ।जिससे कि वह अपने परिवार और समाज को मुंह ना दिखा सकें। इसी बहुत से तंग आकर वह इस आत्महत्या को अंजाम दे रहे हैं। वर्तमान में चल रहे किसान आंदोलन और इस आत्महत्या की खबर से  प्रदेश की राजनीति गरमा गई है।

Credit amarujala 



Download smart Think4unity app