ग्वालियर में रविवार को न्यूनतम पारा 6.8 डिग्री पर रहा

अंचल के ज्यादातर जिलों में तापमान गिरता जा रहा है। एक दिन पहले दतिया प्रदेश में सबसे ठंडा रहा था और ग्वालियर दूसरे नंबर पर था। पर रविवार को रात के पारा में मामूली उछाल आया है। 

ग्वालियर में रविवार को न्यूनतम पारा 6.8 डिग्री पर रहा

t4unews: दिसंबर की 2020 में ग्वालियर जिले में हवा का कहर जारी है और रात को धुंध भी आसमान पर कब्जा जमाए बैठी है। यही कारण है कि कड़ाके की ठंड का दौर जारी है। ग्वालियर में बीते चार दिन से पारा 5 और 6 डिग्री के आसपास जमा हुआ है। यही कारण है कि रविवार सुबह न्यूनतम तापमान 6.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ है। रात को ठिठुरन बनी हुई है, पर दिन में तेज धूप निकलने से राहत मिल रही है। पूरे उत्तर भारत सहित अंचल में ठंड का कहर जारी है। हाड़ कंपा देने वाली ठंड अपना असर दिखा रही है। अंचल के ज्यादातर जिलों में तापमान गिरता जा रहा है। एक दिन पहले दतिया प्रदेश में सबसे ठंडा रहा था और ग्वालियर दूसरे नंबर पर था। पर रविवार को रात के पारा में मामूली उछाल आया है। 1.2 डिग्री उछाल के साथ रविवार को न्यूनतम तापमान 6.8 डिग्री पर आ गया है। पर ठंड से जरा भी राहत नहीं है।

और देखा जाए तो मौसम विभाग के वैज्ञानिक सीके उपाध्याय की माने तो पश्चिमी विक्षोभ का असर दिखाई दे रहा है। पहाड़ों पर अचानक बर्फबारी से अंचल का मौसम बदला है। ठंडी हवा चलने से तापमान लगातार 5 से 6 डिग्री के आसपास अटका हुआ है। पर अभी शीतलहर चलेगी और पारा इससे भी नीचे जाएगा। जल्द कोहरा भी अपना असर दिखाएगा। दिन में धूप से राहत रात का पारा तो 5 डिग्री के आसपास बना हुआ है और लगातार रात को ठिठुरन बनी हुई है, लेकिन दिन में तेज धूप के कारण ठंड से राहत है। दिन का तापमान 25 डिग्री या उसके आसपास ठहर सा गया है। मौसम विभाग ने संभावना जतायी है कि आने वाले 3 से 4 दिन में कोहरा के साथ दिन का पारा नीचे गिरेगा और ठंड बढ़ेगी। शीतलहर से होगी नए साल की शुरूआत मौसम विभाग की माने तो साल 2020 का समापन और नए साल का आगमन शीतलहर बीच हो सकता है। हमेशा की तरह ऐसा संभव है कि हाड़ कंपा देने वाली ठंड में नए साल का आगाज हो।  रविवार सुबह शहर में धुंध रही पर उसके बाद तेज धूप से राहत रही होगी।

Dainik Bhaskar source



Download smart Think4unity app