डॉक्टर ने कोविड-19 का टीका लगवाए लेकिन फिर भी संक्रमण से नहीं बच पाए

देवास के नामचीन डॉक्टर योगेश वालिंबे कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं। खास बता ये है कि उन्होंने एक दिन पहले ही कोविड वैक्सीन लगवाई थी।

डॉक्टर ने कोविड-19 का टीका लगवाए लेकिन फिर भी संक्रमण से नहीं बच पाए
डॉक्टर योगेश वालिंबे कोरोना पॉजिटिव

t4unews:-सोशल मीडिया में वायरल हो रही जानकारी के अनुसार देवास के नामचीन डॉक्टर योगेश वालिंबे कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं। उन्होंने एक दिन पहले ही कोविड वैक्सीन लगवाई थी। वह पहले से बीमार चल रहे थे, टीका लगवाने के बाद शनिवार रात उनकी तबीयत ज्यादा बिगड़ गई। उन्हें इंदौर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। प्रोटोकॉल के मुताबिक डॉ. वालिंबे का कोरोना टेस्ट हुआ और उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव निकली है। डॉक्टर की पत्नी भी कोरोना संक्रमित पाई गई हैं।  इससे परिस्थितियों और भ्रामक हो जाती हैं।

जानकारी के अनुसार शनिवार को देवास जिला अस्पताल में सफाईकर्मियों और स्वास्थ्य कर्मियों को कोविड टीका लगा था लिस्ट में डॉ. योगेश वालिंबे का भी नाम था। सुबह 11 बजे उन्होंने जिला अस्पताल में करीब 15 मिनट तक लाइन में खड़े होकर वैक्सीन लगवाई। इसके बाद वह यहां आधे घंटे तक ऑब्जर्वेशन में भी रहे। 

इससे पहले डॉ. वालिंबे ने देवास सांसद महेंद्र सिंह सोलंकी, विधायक गायत्री राजे पंवार, कलेक्टर चंद्रमौलि शुक्ला समेत अन्य प्रशासनिक अधिकारियों से मुलाकात की थी। अब जिन से उनकी मुलाकात हुई वह सभी जांच के दायरे में आ रहे हैं।

घर बैठे अपने सामान को प्राप्त करें ,बिजनेस को बढ़ाएं डाउनलोड करें ऐप थिंक फॉर यूनिटी

डॉक्टर के कोरोना संक्रमित निकलने के बाद देवास प्रशासन सक्रिय हो गया है। उनके कॉन्टैक्ट में आए लोगों को ट्रेस करने काम तेज हो गया है। देवास सीएमएचओ डॉ. एमपी शर्मा ने बताया कि डॉ. वालिंबे की कोरोना रिपोर्ट पाजिटिव आई है। हमने उनसे संपर्क में लोगों की लिस्ट मांगी है। बता दें कि हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. योगेश वालिंबे (60) इंदौर रोड अग्रोहा नगर में रहते हैं और यहीं उनका प्राइवेट क्लीनिक है। ऐसा अजब गजब मामला अगर आगे भी चलता रहा तो प्रचार के जगह दुष्प्रचार होना आरंभ हो जाएगा कोविड-19 के टीकाकरण अभियान का प्रशासन इस मामले में ध्यान दें।

साभार अमर उजाला



Download smart app