करोना बीमारी से बचे तो ब्लैक फंगस में अटके.... निदान प्रोटीन की भरपूर मात्रा 

करोना बीमारी से बचे तो ब्लैक फंगस में अटके.... निदान प्रोटीन की भरपूर मात्रा 
Protien diet

t4unews: कोरोना काल में लोगों द्वारा अच्छी डाइट फॉलो की जा रही है। ताकि इस महामारी की चपेट में आने से बच सकें। कई लोगों ने अपनी लाइफस्टाइल में कई तरह के बदलाव किए है। शायद आने वाले वक्त में यह आगे भी जारी रहेगा। कोरोना वायरस के संक्रमण दर में जरूर गिरावट दर्ज की जा रही है लेकिन सावधानी अभी भी बरतना जरूरी है। साथ ही कोरोना मरीजों को डॉ द्वारा ग्लूकोज की मात्रा कम करने और प्रोटीन डाइट बढ़ाने की सलाह दे रहे हैं आइए जानते हैं ऐसा क्यों?

कोविड मरीजों को कोरोना के ट्रीटमेंट में जल्दी रिकवरी और संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए स्टेरॉयड दिया जा रहा है। इस दवा से मरीज ठीक हो रहे हैं लेकिन एक नई बीमारी होने लगी है। जिसे म्यूकर माइकोसिस यानी ब्लैक फंगल इंफेक्शन कहा जा रहा है। जो नाक से शुरू होता
है इसके बाद मुंह में होता है और फिर दिमाग तक पहुंच जाता है।
:

बता दें कि स्टेरॉयड की अधिकतम 3 दिन की खुराक दी जाती है। इसके बाद डॉक्टर अपने अनुसार उसकी मात्रा कम करते हैं। डॉ के साथ ही डायबिटीज मरीज को अपनी शुगर चेक करते रहना जरूरी है। कहीं कम और ज्यादा नहीं हो जाएं।

प्रोटीन डाइट बढ़ाना क्यों जरूरी है-

प्रोटीन की कमी से आपका इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है। जब प्रोटीन की कमी होने लगती है तो खून की कमी बढ़ जाती है। कोरोना काल में इसलिए प्रोटिन की मात्रा बढ़ाने की सालह दी जा रही है। इसकी कमी से जोड़ों में दर्द की समस्या भी बढ़ जाती है, जिससे मांसपेशियां अकड़ने लगती है। वहीं बच्चों में प्रोटीन की कमी होने पर विकास बहुत कम होता है।

 प्रोटीन में क्या खा सकते हैं?

किशमिश, अमरूद, खूजर, आलूबुखारा, अरहर, उड़द मूंग, छोले, चने की दालों का सेवन करना चाहिए। हर दिन भोजन में अलग - अलग दाल का उपयोग करना चाहिए। निरामिष भोजन करने वाले लोग अंडे को उबालकर खाना पसंद कर रहे हैं परंतु सामिष भोजन करने वालों के लिए प्रोटीन पाउडर जो बाजार में उपलब्ध है अच्छी ब्रांडेड कंपनी का लिया जाना आवश्यक है । वर्तमान समय में एमवे और नेस्ले जैसी बड़ी बड़ी मल्टीनेशनल कंपनियां अपने सेल को लेकर बहुत उत्साहित हैं।



Download smart app