30 साल तक मुफ्त चाहिए बिजली तो लगवाएं Solar Panel,अपने छत पर  मिल रही है भारी छूट, जानें- पूरी डिटेल

Solar Panel Subsidy In Uttar Pradesh 2021- उत्तर प्रदेश सरकार सोलर प्लांट पर 15000 से 30 हजार रुपए तक सब्सिडी दे रही है, जबकि केंद्र सरकार 40 फीसदी तक सब्सिडी दे रही है।

Solar Panel Subsidy In Madhya Pradesh 2021- मध्य प्रदेश सरकार सोलर प्लांट पर  25000 से 30 हजार रुपए तक सब्सिडी दे रही है, जबकि केंद्र सरकार 40 फीसदी तक सब्सिडी दे रही है।
यहां यह बता दे कि सब्सिडी केवल पॉलिकृष्टलाइन पैनल पर मिल रहा है जो सोलर सिस्टम की 15 साल पुरानी टेक्निक है।जबकि सोलर पैनल का अभी चौथी पांचवी जेनरेशन पर आधुनिकतम तरीके से कार्य चल रहा है। जिसमें मोनो क्रोम हाफ कट बाई फेशियल सोलर पैनल का दौर चल रहा है जो पुराने चैनल से डबल बिजली का निर्माण करती है और जगह कम घेरती है परंतु उसमें कोई सब्सिडी नहीं है अर्थात नई टेक्नालॉजी पर सब्सिडी सरकार द्वारा प्रदान नहीं किया जा रहा है।

30 साल तक मुफ्त चाहिए बिजली तो लगवाएं Solar Panel,अपने छत पर  मिल रही है भारी छूट, जानें- पूरी डिटेल
Nexus सोलर पावर लगाएं

30 साल तक मुफ्त चाहिए बिजली तो लगवाएं Solar Panel,अपने छत पर  मिल रही है भारी छूट, जानें- पूरी डिटेल

t4unews:-. Solar Panel Subsidy In Uttar Pradesh 2021 and  Madhya Pradesh- महंगी होती बिजली से परेशान हैं और बिजली बिल (Electricity Bill) के झंझट से छुटकारा पाना चाहते हैं तो सोलर पैनल (Residential Rooftop Solar Projects) आपके लिए बेहतर विकल्प है। बिजली के बढ़ते दाम और घटती कमाई की वजह से लोग   भविष्य की प्लानिंग करते हुए घरों में सोलर प्लांट लगवा रहे हैं। सोलर पैनल लगवाने में आपको एक बार पैसे लगाने होंगे और आपको 25 वर्षों तक मुफ्त बिजली मिलेगी। सोलर पैनल (Solar Panel) लगवाने पर केंद्र 40 फीसदी की छूट दे रही जबकि राज्य सरकार 15 हजार से 30 हजार रुपए की सब्सिडी दे रही है। सब्सिडी (Subsidy) के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से आवेदन किया जा सकता है। ऑनलाइन में आपके द्वारा बनाई गई अतिरिक्त बिजली बिजली कंपनी के ग्रेड में जमा होती है जबकि ऑफलाइन में बनाई गई बिजली बैटरी में स्टोर की की जाती है।
सोलर प्लांट लगवाने में कितना खर्चा आएगा? सब्सिडी कैसे मिलेगी? आपके घर के लिए कितने किलोवाट की क्षमता का सोलर पैनल लगवाना होगा ? यह सभी आम प्रश्न जनमानस के जीवन में घूमते रहते हैं।
आज हम आपको ऐसे ही तमाम सवालों के जवाब देने रहे हैं, ताकि आप भी अपनी जरूरत के हिसाब से फैसला ले सकें।

आपके लिए कितने किलोवाट का सोलर प्लांट आवश्यक होगा?

Solar System For Homes- आपके घर के लिए कितने किलोवाट का सोलर प्लांट सही है? साधारण भाषा में समझें तो अगर आपका बिजली का बिल 1000 रुपए आ रहा है तो आपके लिए एक किलोवाट का सोलर पैनल पर्याप्त है। लेकिन अगर 10 हजार रुपए बिजली का बिल आ रहा है तो आपको 10 किलोवाट क्षमता वाले प्लांट को लगवाना चाहिए।

एयरकंडीशन (एसी)  वाशिंग मशीन हीटर कूलर भी चलेगा
Running Air Conditioner On Solar System- जानकारों का कहना है कि एक किलोवाट की क्षमता वाले सोलर पैनल से आमतौर पर एक घर के जरूरत की बिजली पूरी हो जाती है। एक एयरकंडीशन (AC) भी चलाया जा सकता है। अगर एक एयरकंडीशनर चलाना है तो दो किलोवाट न्यूनतम और दो एयर कंडीशनर चलाना है तो तीन से पांच किलोवाट क्षमता के सोलर पैनल की जरूरत होगी।
जानिए नेक्सस Nexus की पसंदगी का कारण लोगों की जुबानी

कितना आएगा खर्च
Solar Panel Cost- दो किलोवाट के आन ग्रिड सोलर पैनल की लागत करीब 1,45,000 रुपए है। इसमें सोलर पैनल, उसके इंस्टालेशन, मीटर और इनवर्टर शामिल हैं। केंद्र सरकार (अक्षय ऊर्जा मंत्रालय) की ओर से इस पर आपको 40 फीसदी तक की सब्सिडी मिल सकती है वहीं, यूपी और एमपी की सरकार 30 हजार रुपए तक की छूट दे रही है। ऐसे में दो किलोवाट तक के सौर ऊर्जा पैनल को लगवाने में आपकी करीब 80 हजार रुपए तक खर्च आएगा। अधिक जानकारी के लिए Uttar Pradesh New And Renewable Energy Development Agency (UPNEDA)   and MP power management  site से संपर्क करें।

कितनी मिलती है सब्सिडी
Solar Panel Subsidy In Uttar Pradesh 2021- and MP state electricity company दोनों  राज्य सरकार एक से तीन किलोवाट के सोलर पैनल पर 15 हजार से 30 हजार रुपए तक की सब्सिडी देती है। इसके अलावा केंद्र सरकार से 40 फीसदी सब्सिडी मिलती है। तीन किलोवाट से 10 ऊपर 10 किलोवाट तक के पैनल पर राज्य सरकार की ओर से 15-30 हजार रुपए की सब्सिडी मिलती है वहीं, केंद्र सरकार पहले तीन किलोवाट पर 40 फीसदी और शेष 7 किलोवाट पर 20 फीसदी की सब्सिडी देता है।

कैसे मिलेगी सब्सिडी
Online/Offline Apply For Solar Panel Subsidy- सब्सिडी के लिए UPNEDA की वेबसाइड पर ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों को तरह से आवेदन किया जा सकता है। इसके बाद अपने क्षेत्र की बिजली डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी (DISCOM) में आवेदन किया जा सकता है। जहां उत्तर प्रदेश में 8 बिजली डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी हैं वही एमपी में तीन बिजली डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी है जिन्हें अपने पैनल में चुने गए कांटेक्ट के द्वारा वर्क आर्डर जारी किया जा चुका है की वह सीधे उपभोक्ताओं के आवेदन पर सर्वे करा कर औपचारिकताएं ऑनलाइन पूरी कराएं और ₹1000 रजिस्ट्रेशन जमा होने के उपरांत सब्सिडी की राशि काटकर शेष बची राशि उपभोक्ता से स्वयं के अकाउंट में जमा कराएं और एक माह के अंदर स्थापना पूरी करते हुए कंपनी को सूचित करें ताकि ऑनलाइन आवेदन किए गए उपभोक्ताओं को नेट मीटर लगा कर बिजली का समायोजन किया जा सके ऑफलाइन एवं स्मार्ट हाइब्रिड सोलर कनेक्शन आवेदकों को जिसमें बिजली बैटरी सोलर पावर और  ग्रिड तीनों के मिश्रण से चलता है उन्हें भी नेट मीटर लगा कर लाभ प्रदान किया जा सके।

उत्तर प्रदेश की विद्युत वितरण कंपनी निम्न लिखित है:-
1. Noida Power Company Limited
2. Kanpur Electric Supply Company Ltd.
3. Torrent Power Limited
4. Purvanchal Vidut Vitran Nigam Limited
5. Madhyanchal Vidyut Vitran Nigam Ltd
6. Pashchimanchal Vidyut Vitran Nigam Ltd.
7. Dakshinanchal Vidyut Vitran Nigam Ltd.
8. U.P. POWER CORPORATION LIMITED

मध्य प्रदेश की विद्युत वितरण कंपनियां निम्नलिखित है:-

1-Madhyapradesh purvi kshetra Vidyut Vitran Nigam Ltd
2-Madhyapradesh Madhya kshetra Vidyut Vitran Nigam Ltd
3-Madhyapradesh pashim kshetra Vidyut Vitran Nigam Ltd

मेंटेनेंस जीरो, 10 साल में बदलनी होगी बैटरी
Solar Panel Maintenance- सोलर पैनलों की उम्र 25 वर्ष होती है। इसका मेटनेंस खर्च बेहद कम है। लेकिन हर 10 साल में एक बार बैटरी बदलनी होती है। बैटरी बदलने का खर्च करीब 20 हजार रुपए होता है।



Download smart Think4unity app