दिनांक 27 अक्टूबर 2021 आज का राशिफल Aaj ka rashifal Lohtaksh लोहताक्ष् ज्योतिष संस्थान

~ आज का हिन्दू पंचांग ~

 लोहिताक्ष

ज्योतिष संस्थान पंडित लक्ष्मीनारायण शास्त्री सागर

 दिनांक 27 अक्टूबर 2021

 दिन – बुधवार

विक्रम संवत – 2078

 शक संवत -1943

 अयन – दक्षिणायन

 ऋतु – हेमंत

 मास – कार्तिक

 पक्ष - कृष्ण

 तिथि - षष्ठी सुबह 10:50 तक तत्पश्चात सप्तमी

 नक्षत्र - आर्द्रा सुबह 07:08 तक तत्पश्चात पुनर्वसु

 योग - सिध्द रात्रि 02:10 तक तत्पश्चात साध्द

  राहुकाल - दोपहर 12:22 से दोपहर 01:48 तक

 सूर्योदय – 06:40

 सूर्यास्त – 18:04

 दिशाशूल – उत्तर दिशा में

 व्रत पर्व विवरण –

t4unews: आज का राशिफल पण्डित लक्ष्मीनारायण शास्त्री सागर वाले के अनुसार निम्नानुसार है :

मेष – आज आप अपनी फिटनेस को लेकर कोई नया कार्यक्रम शुरू कर सकते हैं. धन की आवक होगी, जिससे आपकी आर्थिक स्थिति सुदृढ़ बनेगी. काम के सिलसिले में आपने पूर्व में जो मेहनत कि है. आज उसके नतीजे आपके सामने आएंगे. आपके भाग्य की प्रबलता आपको अनेक जगहों पर आगे बढ़ाएगी और सम्मान दिलवाएगी. शादीशुदा लोग अपने गृहस्थ जीवन को खूबसूरत बनाने के लिए आज अपने जीवनसाथी को सभी जगह पर लेकर जाएंगे. प्रेम जीवन बिता रहे लोग त्योहारी खरीदारी में अपने प्रिय के साथ जाना पसंद करेंगे और उनके लिए भी कोई बढ़िया सा गिफ्ट लेगे. आप का मन मजबूत रहेगा, जिससे आज का दिन आपको बहुत हल्का महसूस होगा.

वृष – तुम्हारा हठ तुम्हारा पतन होगा. आराम से दृष्टिकोण करें और भले ही चीजें आपके खिलाफ हो रही हों, लचीला हो. दूसरों की राय सुनने और सुनने की अनुमति देने का प्रयास करें और यहां तक कि इसके लिए सकारात्मक रहें यदि यह आपके तर्क को धात बताता है. आज आपको कुछ अनुकूलन क्षमता दिखाने की आवश्यकता है, भले ही आप ऐसा महसूस न करें. आपको वास्तव में दुनिया में जाने और दुनिया तक पहुंचने की जरूरत है.

मिथुन – आज आप अपने जीवन में कुछ सकारात्मक बदलाव लाने की कोशिश करेंगे. अगर आप अकेले रह रहें हैं तो आपकी सेहत पूरी तरह आपके हाथों में हैǀ आमदनी का मार्ग प्रशस्त होगा पूर्व में आपने जो भी कार्य किए हैं उसका परिणाम भी आज आपको प्राप्त होगा. दूसरों की बातें सुनना आपके हित में रहेगा. काम भाव पर संयम रखें. अधिक खर्च होने से हाथ तंग रह सकता है. वाणी पर संयम रखेंगे तो विवाद से बचेंगे. किसी कारण समयानुसार खान-पान की व्यवस्था नहीं हो पाएगी.

कर्क – भाग्य और कर्म किसी पर आपका जीवन आगे बढ़ेगा. आप भाग्य में भी विश्वास रखेंगे और खूब मेहनत भी करेंगे. इससे आपको आज सकारात्मक नतीजे प्राप्त होंगे. जीवन साथी हर कदम पर आपके साथ खड़ा नजर आएगा और आज उनके साथ आप सेल्फी लेकर अपने सोशल मीडिया को लाइक बढ़ाने में लगाएंगे. प्रेम जीवन बिता रहे लोग अपने प्रिय की मन की स्थिति को जानकर थोड़े दुखी होंगे क्योंकि उन्हें किसी बात की चिंता हो सकती है, जिसे वह आप से आसानी से शेयर नहीं करेंगे, इसलिए उनसे बात करें. परिवार में माता-पिता आपको कोई काम की सलाह देंगे और आज आपकी सेहत भी बढ़िया रहेगी. यानी आज का दिन आपके लिए अच्छी राह पर आगे बढ़ेगा.

सिंह – सामाजिक मोर्चे पर बहुत गतिविधि हो रही है और आप इसका हिस्सा बनने की संभावना रखते हैं. आपके परिवार के सदस्यों को आपका ध्यान आकर्षित करने और शाम को खाने के लिए बाहर ले जाने की आवश्यकता हो सकती है. आपके बिखरे हुए नोटिस कविता का एक हिस्सा है जो आपका जीवन है, और आप आज जो कुछ भी सीखते हैं उससे प्रेरणा पा सकते हैं.

कन्या – आज आपकी किस्मत खुलने वाली है बहुत बड़ा धन लाभ होगा. कारोबार सम्बन्धी कोई योजना यदि आपके मन में चल रही है तो इसे आज पूरा किया जा सकता है. विदेश स्थित स्नेहीजनों या मित्रों का समाचार मिल सकता है. व्यापारियों को कारोबार में धन लाभ होगा. नए आयोजन हाथ में ले सकेंगे. मित्रों तथा सगे-संबंधियों का घर पर आगमन होने से आनंद होगा. आध्यात्मिक तथा गूढ़ विद्याओं के अध्ययन में रुचि होगी.

तुला – जीवन साथी की सेहत बिगड़ सकती है, जिस पर आपको अच्छा खासा पैसा भी खर्च करना पड़ सकता है. समय रहते इलाज पर ध्यान दें. मन में बुद्धिमानी रहेगी और आप अपने ज्ञान का प्रयोग करके अपने बिजनेस को आगे बढ़ाने का कोई नया तरीका निकाल देंगे. नौकरीपेशा लोग आज जमकर मेहनत करेंगे और अपने भविष्य को मजबूत बनाने की दिशा में प्रयासरत रहेंगे. प्रेम जीवन बिता रहे लोग अपने प्रिय को कुछ बातें बताएंगे, जिसके असर के रूप में आप दोनों के बीच गर्मा गर्मी हो सकती है. विरोधियों पर आप भारी पड़ेंगे सेहत का ध्यान रखें.

वृश्चिक – आपको अपने जीवन की कुछ कठिन चुनौतियों का सामना करने की संभावना है. इसे गले लगाओ क्योंकि यह उत्साह से भरा होगा. आप अनुभव प्राप्त करेंगे जो आपको जीवन में अधिक से अधिक सफलताओं के लिए तैयार करेगा. किसी समारोह के मुख्य अतिथि या अतिथि बनने से कुछ के लिए इनकार नहीं किया जा सकता है.

धनु – आज दांपत्य जीवन में कहीं ना कहीं मतभेद तथा रुठना-मनाना चलता रहेगा. आप की मनोकामनाएं पूर्ण होंगी. महालक्ष्मी की कृपा दृष्टि बनी रहेगी. आप किसी के साथ वैवाहिक संबंध स्थापित करने से पूर्व भली-प्रकार सोच-विचार कर लें. बच्चे अपने-अपने क्षेत्र में अच्छा प्रर्दशन करेंगे, आप उन पर गर्व करेंगे. परिवार आपका पूर्ण सहयोग करेगा तथा परिवार में सदस्यों के मध्य स्नेही वातावरण बना रहेगा. बातचीत में तार्किक एवं बौद्धिक चर्चा से दूर रहने का प्रयास करें.

मकर – आज का दिन मान अच्छा रहेगा. आपको यात्रा समाप्त करके दोपहर तक अपने घर वापसी कर सकते हैं. पारिवारिक सदस्यों का सहयोग आपके काम में मिलेगा. नौकरी पेशा लोग अपने काम में अच्छा प्रदर्शन कर पाने में कामयाब रहेंगे. आप हर बात को अपनी प्रतिष्ठा का विषय ना बनाएं नहीं तो आत्मसम्मान की हानि हो सकती हैं. इनकम ठीक-ठाक रहेगी, खर्चे बढ़ेंगे. किसी दोस्त के आगमन से घर में खुशी आएगी. शादीशुदा लोग अपने गृहस्थ जीवन में से संतुष्ट नजर आएंगे, जबकि प्रेम जीवन बिता रहे लोग आज अपने प्रिय के लिए कुछ नया करने की कोशिश करेंगे.

कुंभ – कम झूठ बोलना और भविष्य के लिए अपनी ऊर्जा का संरक्षण करना सबसे अच्छा है. एक बुरके लेने और चार्ज करने की कोशिश करें. आपको बहुत सारी घटनाएँ देखने को मिलेंगी जिन्हें आप नियंत्रित करना चाहते हैं, लेकिन उन्हें जवाब देना भी मुश्किल है. बस प्रवाह के साथ जाओ और चुनौतियों पर प्रतिक्रिया करें. किसी को सामान्य रुचियों और स्वाद के साथ खोजना एक उभरते हुए रोमांच की घंटी बजा सकता है और आपके एकाकी दिनों को समाप्त कर सकता है.

मीन – आज प्रत्येक कार्य में आपको सफलता प्राप्त होगी. ऊपरी अधिकारी आप पर प्रसन्न रहेंगे. आपके साथ कुछ ना कुछ अच्छा होगा. नौकरी और बिजनेस में अचानक बदलाव होगा. यह बदलाव आपके लिए लाभकारी साबित होगा. रुका हुआ पैसा आपको वापस मिल सकता है. विभिन्न सामाजिक कार्यों में आपका समय बितेगा. परिवार और दोस्त खुशी के समय और यादगार अवसरों को मनाने के लिए इकट्ठा होंगे.

 विशेष – षष्ठी को नीम की पत्ती, फल या दातुन मुँह में डालने से नीच योनियों की प्राप्ति होती है। (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)

           

 पुष्य नक्षत्र योग

 28 अक्टूबर 2021 गुरुवार को सुबह 09:42 से 29 अक्टूबर को सूर्योदय तक गुरुपुष्यमृत योग है ।

 १०८ मोती की माला लेकर जो गुरुमंत्र का जप करता है, श्रद्धापूर्वक तो २७ नक्षत्र के देवता उस पर खुश होते हैं और नक्षत्रों में मुख्य है पुष्य नक्षत्र, और पुष्य नक्षत्र के स्वामी हैं देवगुरु ब्रहस्पति | पुष्य नक्षत्र समृद्धि देनेवाला है, सम्पति बढ़ानेवाला है | उस दिन ब्रहस्पति का पूजन करना चाहिये | ब्रहस्पति को तो हमने देखा नहीं तो सद्गुरु को ही देखकर उनका पूजन करें और मन ही मन ये मंत्र बोले –

ॐ ऐं क्लीं ब्रहस्पतये नम : |...... ॐ ऐं क्लीं ब्रहस्पतये नम : |

      

कैसे बदले दुर्भाग्य को सौभाग्य में

 बरगद के पत्ते पर गुरुपुष्य या रविपुष्य योग में हल्दी से स्वस्तिक बनाकर घर में रखें |

 -लोककल्याण सेतु – जून २०१४ से

     

 गुरूपुष्यामृत योग

 ‘शिव पुराण’ में पुष्य नक्षत्र को भगवान शिव की विभूति बताया गया है | पुष्य नक्षत्र के प्रभाव से अनिष्ट-से-अनिष्टकर दोष भी समाप्त और निष्फल-से हो जाते हैं, वे हमारे लिए पुष्य नक्षत्र के पूरक बनकर अनुकूल फलदायी हो जाते हैं | ‘सर्वसिद्धिकर: पुष्य: |’ इस शास्त्रवचन के अनुसार पुष्य नक्षत्र सर्वसिद्धिकर है | पुष्य नक्षत्र में किये गए श्राद्ध से पितरों को अक्षय तृप्ति होती है तथा कर्ता को धन, पुत्रादि की प्राप्ति होती है |

 इस योग में किया गया जप, ध्यान, दान, पुण्य महाफलदायी होता है परंतु पुष्य में विवाह व उससे संबधित सभी मांगलिक कार्य वर्जित हैं | (शिव पुराण, विद्येश्वर संहिताः अध्याय 10)



Download smart Think4unity app